ज्ञान की अच्छी बातें -

जिंदगी में एक दूसरे के जैसा होना आवश्यक नहीं है बल्कि एक दूसरे के लिए होना आवश्यक है। मनुष्य यदि अपनी इच्छाओं को घटाकर देखे, तो खुशियों का संसार नजर आएगा। मनुष्य यदि मस्तक को थोड़ा झुकाकर देखे, तो सारा अभिमान मर जायेगा। मनुष्य यदि जिह्वा पर लगाम लगा के देखे, तो सारा क्लेश खत्म हो जायेगा। नेत्र, व्यक्ति को केवल बाहरी दृष्टि प्रदान करते है, शरीर के अंतरात्मा मन को नहीं। क्षमा उस फूल के समान होता हैं, जो कुचले जाने के बाद भी खुशबू देता रहता है। अच्छे व्यक्ति को पहचानने के लिए अच्छा हृदय चाहिए, तेज दिमाग नहीं। क्योंकि दिमाग हमेशा तर्क करता है, हृदय हमेशा प्रेम-भाव देखता है॥ व्यक्ति को अकेले में अपने विचारों को संभालना चाहिए। और जब लोगों के बीच में हों तब अपने शब्दों को संभालना चाहिए॥ वो हाथ हमेशा पवित्र होते है जो प्रार्थना से ज्यादा दूसरो की सेवा के लिए उठते है। माया या धन का स्थान केवल जेब में होनी चाहिए, दिल में नहीं। मनुष्य को कुछ हंसकर और कुछ बोलकर टाल देना चाहिए। जीवन में परेशानियां बहुत हैं कुछ वक्त पर डाल देना चाहिए।। किसी को सुख पहुँचाना भले ही आपके हाथ में न हो। लेकिन किसी को दुःख न पहुँचाना तो आप के हाथ में है।। सागर को घमंड था की मैं, सारी दुनिया को डुबा सकता हूँ। इतने में तेल की एक बूद आयी, और तैर कर निकल गयी।।

1.