जिस प्रकार एक मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती, उसी प्रकार व्यक्ति आध्यात्मिक जीवन के बिना अधूरा है। – गौतम बुद्ध

भगवान के दरवार में सभी कर्मों का लेखा-जोखा रहता है। – गुरु नानक आपका कर्तव्य ही धर्म है, प्रेम ही ईश्वर है, सेवा ही पूजा है, और सत्य ही भक्ति है। – अज्ञात मैंने सब कुछ देखने के लिए अपनी आँखें बंद कर लीं। – पॉल गौगुइन प्रकृति हमारी खूबसूरती, बौद्धिक, संज्ञानात्मक और यहां तक कि आध्यात्मिक संतुष्टि की कुंजी रखती है। – ई.ओ. विल्सन सत्संग एक महान महिमा है – वह दुखो को हरता है , पापों को काटता है और जीवन को सुधारता है। – अज्ञात

1.