वृश्चिक का राशिफल

वृश्चिक - शिक्षा वृश्चिक राशि वालों को चिकित्सा, ज्योतिष, विज्ञान के विषयों, प्रबंधन, वाणिज्य, राजनीति शास्त्र आदि विषयों का अध्ययन करने पर अधिक सफलता प्राप्त करते हैं। वृश्चिक - व्यवसाय वृश्चिक राशि वाले क्रय-विक्रय करने वाले, औषधि अथवा इलेक्ट्रिक यंत्र का व्यापार करने वाले, यंत्र कार्य करने वाले, रस-पदार्थ तेल आदि से संबंधित कार्य करने वाले होते हैं। विदेश व्यापार, आयात-निर्यात में इनको विशेष सफलता अवश्य मिलती है। वृश्चिक - आर्थिक पक्ष वृश्चिक राशि वाले व्यक्तियों की इच्छाएं अवश्य पूरी होती है, मगर उसमें देरी अवश्य होती है। यदि मौके पर खर्च की आवश्यकता पड़ जाए तो इज्जत बच जाती है अर्थात्‌ येन-केन-प्रकारेण काम पूरा हो जाता है। सही दिशा से धन कमाकर जीवन चलाते रहने में ही संतोष मानते हैं।। वृश्चिक - प्रेम संबंध वृश्चिक राशि वाले प्रेम के भूखे होते हैं। प्रेम ही उनकी शक्ति होती है। वह प्रेम के बदले प्रेम चाहते हैं। कुछ लोग उन्हें कामुक कह सकते हैं, परन्तु वह काम का संबंध भी प्रेम से जोड़ते हैं। वृश्चिक राशि वालों का प्रेम संबंध भी एक अनोखे प्रकार का होता है। इस राशि वालों का पंचम स्थान मीन से संबंधित एवं नेपच्यून से शासित है। अतः इस राशि के लोग भ्रमों के शिकार होते रहते हैं। ये अपने तथा दूसरों के बीच भिन्न-भिन्न स्तरों को स्वीकार करने की चेष्टा करते रहते हैं। दूसरों पर विश्वास न कर पाने के कारण वह स्थितियों से निपटने का भार केवल स्वयं को ही देना चाहते हैं। इसके फलस्वरूप ईर्ष्या तथा संदेह का वातावरण बनता है। सैक्स तथा पुनरुत्पादन के क्षेत्र में यह राशि सिंह से भी अधिक शक्तिशाली है। अतः इसकी उपस्थिति का आभास सभी को हो जाता है। इस राशि के लोग अपनी इच्छाओं को दूसरों पर थोप सकते हैं। ये काम को एक हथियार के रूप में प्रयुक्त कर सकते हैं। यद्यपि कभी-कभी यह स्वयं भी उसी का शिकार हो जाते हैं। यह लोग अपने स्वत्व की रक्षा के लिए भयंकरतम संघर्ष कर सकते हैं, परन्तु विजयी हो जाने पर सब कुछ दे भी सकते हैं। वृश्चिक राशि वालों के लिए प्रेम संबंध सौंदर्य तथा शारीरिक पहलुओं से संबंध रखने वाली वस्तु है। वह प्रेमी तथा भावुक प्रकृति के होते हैं। आयु के साथ-साथ उनके प्रेम भाव में प्रौढ़ता भी आती चली जाती है। वृश्चिक राशि वाले परस्पर विरोधों से परिपूर्ण होते हैं। वह अपने आप को एक ही समय में प्रेम तथा घृणा दोनों ही कर सकते हैं। शक्ति सम्पन्न होने पर भी वह आत्म-विश्वास रहित होते हैं। उन्हें अति शक्ति संलग्न तथा भौतिक सम्पत्ति की ओर आकर्षित नहीं होना चाहिए। इस राशि के जातकों में उत्सुकता अधिक होती है, वह सैक्स तथा प्रेम को सर्वथा पृथक मानकर चलते हैं। वह प्रेम को मात्र शारीरिक क्रिया ही नहीं मानते अपितु बौद्धिक समरसता भी मानते हैं। ये रहस्यमय व्यक्ति की ओर आकर्षित होते हैं तथा अपने साथी से पूर्ण विश्वास की अपेक्षा रखते हैं। विपरीत लिंग से संबंध वृश्चिक राशि वालों को विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण होता है, परन्तु इनकी लंबी योजनाएं सामान्य ढांचे में समाहित नहीं हो पाती हैं। इनके लक्ष्यों को समय से पूर्व का कहा जा सकता है। वृश्चिक राशि के लोग व्यक्तिगत आकर्षण की शक्ति का उपयोग करना भी जानते हैं, ये विरोधी लिंग को अपनी ओर आकर्षित करते हैं तथा इसका सदुपयोग तथा दुरुपयोग दोनों ही कर सकते हैं। काम वासना में भी अधिक संलग्न देखे गए हैं। किसी प्रकार का व्यसन इन्हें अवश्य रहता है। कभी-कभी इनकी वासना का उग्र व प्रबल रूप भी उपस्थित होता है, जिसके लिए इन्हें पश्चाताप करने का मौका देखना पड़ता है। अतः इन लोगों को चाहिए कि जीवन में हमेशा संयम व शांति से रहें।

1.